Home / ENTERTAINMENT / समय-चक्र
समय-चक्र

समय-चक्र

 

समय महा बलवान है,
जोमझ जाए, वो महान है,
जो ना समझे, वो नादान है,
यही समय का ज्ञान है।

समयनिष्ठ ही कप्तान है,
समय से उसकी शान है,
छूता वहीं आसमान है,
जो समय का कद्रदान है।

मिलता उन्हें उपयुक्त सम्मान है,
जो रखते समय का मान है,
करते सामयिक बलिदान है,
तभी उनका जीवन आसान है।

समय की ये दास्तान है,
कुछ इस से भी अंजान है,
अगर करना नव निर्माण है,
ये जीवन जंग का मैदान है।

समय भी एक मेहमान है,
करना उसे भी प्रस्थान है,
जो करता उसकी पहचान है,
वो धरा पर आयुष्मान है।

ये एक ऐसा वरदान है,
जो जीत जाए उसे, वो सुल्तान है,
जो ना जीते वो हैरान है,
यही उसका निशान है।

इज्जत दो उसे, तो ही तुम्हारा उत्थान है,
वहीं भूत, वहीं भविष्य, वहीं पूर्ण वर्तमान है,
इसके विपरित कार्य हो, तो होता चुर अभिमान है,
प्रकृति है सुशोभित उसकी, विमान सा गतिमान है,
समय महा बलवान है-(2)।

Comments

About Mohit Dadhich

Mohit Dadhich
Mohit Dadich, is a Graduate in Commerce from Maharishi Dayanand Saraswati College, Ajmer. His interest lies in Public Speaking, Teaching and most importantly literature. His art work has acknowledged across magazines and newspaper. Can be reached at [email protected]

Check Also

The teaser of Bhushan Kumar's Naach Meri Rani feat Nora-Guru is out now!

The teaser of Bhushan Kumar’s Naach Meri Rani feat Nora-Guru is out now!

After massive anticipation, the teaser of Bhushan Kumar’s Naach Meri Rani is finally out! T-Series …

6 comments

  1. Avatar

    Nice poem

  2. Avatar

    Waaah jnaab…baut bdia 👏👏

  3. Avatar

    उम्दा

  4. Avatar
    Shiva khandelwal

    बहुत खूब

  5. Avatar

    Adbhut… 😍

  6. Avatar
    Bhanu pratap singh

    Bahooot hi achhaa likha betiiii… shandar jandar wajandaar.

    Love to see your next one

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Postman,Postman News,Postmannews,Piyush Goyal education,Suresh Prabhu education