Home / हिंदी / प्रशासनिक सेवाओं में जाने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए सुनहरा मौका
प्रशासनिक सेवाओं में जाने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए सुनहरा मौका

प्रशासनिक सेवाओं में जाने के इच्छुक विद्यार्थियों के लिए सुनहरा मौका

उमंग उत्साह और उल्लास किसी भी सफर को यादगार बना देते है और यदि ऐसी कोई भी यात्रा दृढ़ निश्चय और साहस की नीव पर टिक्की हो तोह सफर बेहद खूबसूरत हो जाता है। ऐसी ही दृद संकल्प और हिम्मत कुछ अलग कर दिखाने की कहानी है ‘चाणक्य आईएस अकादमी’ के संस्थपक ए के मिश्रा की| कुछ लोग सागर में उठती उन लहर की तरह होते हैं जो बाढ़ नदी का रुख मोड़ देते है। कुछ ऐसी ही कहानी है इनकी।

ये वो कलम है जिसने न केवल अपनी कहानी खुद लिखी बल्कि अपनी मेहनत के दम पर बहुत से लोगों को नए आयाम हासिल करने में मदद की, जो सिर्फ भारतीय असैन्य सेवाओं को बतौर एक सपना देख रहे थे। फिर चाहे IAS, IPS, IFS, IRS या कोई और सेवा हो। ‘Success Guru’ जैसा की इनके छात्र बुलाते है ना केवल एक उच्च कोटि के अध्यापक है बल्कि एक सफलता की मिसाल है जिनका निस्वार्थ कार्य समाज के लिए किसी प्रेरणा से कम नहीं है।

झारखंड के छोटा नागपुर के हजारीबाग जिले में जन में ए के मिश्रा ने अपनी जिंदगी के संघर्ष से वह सीखा जो किसी उच्चतम विश्वविद्यालय में भी सीख पाना लगभग असंभव है। इनका धैर्य और दृढ़ निश्चय इन्हें आज वहां ले आया है जहां पहुंचने की हम में से बहुत से लोग सिर्फ कल्पना ही कर पाते हैं। आज भले ही इनका जन्म स्थान रेल और सड़क यातायात से जुड़ा हो परंतु जिस समय में इन्होंने रोज 5 किलोमीटर चलकर विद्यालय पढ़ने जाने का साहस किया उस समय ऐसा कुछ भी उपलब्ध नहीं। उनके इस सफर में रोजमर्रा के संघर्ष से जूझकर आगे पढ़ने के लिए प्रेरित किया और वह एक प्रेरणा के रूप में आज हमारे बीच है।

ना केवल अपने पश्चिम उन्होंने IAS की तैयारी के रूप में छोड़ें है अपितु एक अमिट छाप छोड़ी है समाज के उन वर्गों के लिए कार्य करने में जो कि आर्थिक या शारीरिक रूप से अक्षम है। उनकी संस्था ए के मिश्रा फाउंडेशन उन वर्गों की मदद,बचाव व उच्चीकरण मैं सदा तत्पर है जो आर्थिक रुप से कमजोर है। अभी हाल ही में इस संस्था ने लक्ष्मी नगर के खदर झुग्गी बस्ती में एक स्वास्थ्य कैंप का आयोजन किया था जहां ऐसे सभी परिवारों के स्वास्थ्य जांच की गई।

कर्म में विश्वास रखने वाले मिश्रा ने एक मानवीय सॉफ्टवेयर की स्थापना की है। जिसका उद्देश्य किसी भी व्यक्ति के मस्तिष्क को सफलता के लिए तैयार करना है।

दिल्ली विश्वविद्यालय से सनातक मिश्रा ने चाणक्य आईएएस अकादमी की स्थापना 1993 में की थी और आज यह अकादमी 25 वर्षों के विविध इतिहास से जुड़ी है और यह किसी भी IAS उम्मीदवार की पहली पसंद है।

ए के मिश्रा द्वारा हाल ही में ए के मिश्रा आर्ट ऑफ सक्सेस प्रोजेक्ट चलाया गया है जिसमें ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं जैसे ‘ Art of Success for Parenting’ ‘Art of Success for Successful’ ‘Art of Success for Professionals’ ‘Art of Success for Aspirers’ ‘Art of Success for Teenagers’ ‘Art of Success for Human Relationships’ आदि।

एक विशिष्ट चिकित्सक, मनोवैज्ञानिक, न्यूरो लिंगविस्टिक प्रोग्रामिंग ट्रेनर्स इस दल का हिस्सा है। यह कार्यक्रम भारत के कई इलाकों में होते हैं जैसे की दिल्ली, गुड़गांव, अहमदाबाद जयपुर पटना रांची हजारीबाग जम्मू कश्मीर गुवाहाटी लखनऊ पुणे मुंबई अलीगढ़ आदि के विद्यालय, विश्वविद्यालयों, दफ्तरों में होते हैं। इस आयोजन का उद्देश्य बहुत से लोगों को प्रेरित करना है और उन्हें रोजमर्रा की जिंदगी की विभिन्न समस्याओं से जूझने के लिए तैयार करना है। यह कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न देशों जैसे लंदन ऑस्ट्रेलिया आदि में भी मिश्रा द्वारा किए गए हैं।

अगर आप भी ऐसे प्रेरणा एवं प्रगतिशील व्यक्ति से मिलना चाहते हैं तो इस 10 अगस्त को इनके विशिष्ट आयोजन पर इनसे दिल्ली के अशोका होटल में मिलें।

Comments

About Himanshi Garg

Himanshi Garg
Himanshi Garg is the Senior Editor at Postman News. She has been writing for Political, Fashion and Home Affairs for a long term. She looks after the editing work of the posts. She corrects all the errors in the articles. She can be reached at [email protected]

Check Also

Army Chief Inaugurates New Residential Facility in Kohima Orphanage

Army Chief Inaugurates New Residential Facility in Kohima Orphanage

Army Chief General Manoj Naravane, who is on three days visit to North East, inaugurated …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Postman,Postman News,Postmannews,Piyush Goyal education,Suresh Prabhu education